सुबह खाली पेट हल्दी का पानी पीने के फायदे (Haldi ke fayde)

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

haldi ke fyade

हल्दी के फायदे हल्दी के दूध के बारे में तो सब जानते होंगे क्योकि हमे बचपन से ही हल्दी का दूध पिलाया जाता आ रहा है लेकिन क्या आप जानते है हल्दी वाला पानी पीने से क्या क्या फायदे होते है और हमें कब कब इसको पीना चाहिए और कैसे पीना चाहिए और इनके सेवन के दौरान किन- किन बातो का ध्यान रखना चाहिए ताकि आपको इसका पूरा फायदा हो। अगर आप लोग नहीं जानते तो कोई बात नहीं क्योकि आज हम आपको बातयेंगे हल्दी वाला पानी बनाना कैसे है और उसका सेवन कैसे करना है और इससे हमारे शरीर को क्या क्या फायेदे होते है तो उन फायदों को जानने के लिए अंत तक इस पोस्ट को पढ़े।

हल्दी हज़ारो सालो से उपयोग में लायी जा रही है। भारतीय खाने की हल्दी के बिना कल्पना करना भी बहुत मुश्किल है लेकिन क्या आप जानते है हल्दी को खाना बनाने में और कैसे इस्तमाल में लाया गया था। हुआ कुछ इस प्रकार था। हज़ारो साल पहले जब डॉक्टरऔर दवाईया मौजूद नहीं थी तब लोग बीमार होना शुरू हो गए थे । तब उस समय हल्दी को सिर्फ दवाई के रूप में इस्तमाल में लाया जाता था और हल्दी इतनी बड़ी anticeptic और antibacterial दवाई थी जिसका तोड़ नहीं था। तब लोगो ने इसको इतना बेहतर पाया की वह अपने को बीमारी से बचाने के लिए हल्दी का उपयोग हर रोज करने लगे और उनको उससे इतना फयदा हुआ की तब से ले कर आज तक हज़ारो साल हो गए और हर घर में हल्दी का उपयोग होता चला आ रहा है ताकि आपको अलग से किसी anticeptic दवाईयों को लेना न पड़े और आपका शरीर बीमारियों से बचा रहे।

हल्दी वाले दूध का फायदा

चोट लगने पर हल्दी वाला दूध दिया जाता है क्योकि जैसे हम जानते है हल्दी वाला दूध anticeptic होने के कारण घाव को बढ़ने नहीं देता और उसे जल्दी से जल्दी भरने में मदद करती है इसलिए हमें हल्दी वाला दूध दिया जाता है। कुछ लोग इस दूध में घी डाल कर भी पीते है क्योकि घी में बहुत जायदा ताकत भी होती है। घी हमारे शरीर को ताकत भी प्रदान करता है। हल्दी वाला पानी दूध से ज्यादा फयदामंद होता है। हम बात करेगे की हमने यह कैसे बनाना है और इसका सेवन कैसे करना है और इससे होने वाले फायदों के बारे में तो हल्दी वाला दूध बनाने में जो जरुरी समाग्री है वह कुछ इस प्रकार है।

haldi ke fyade

सामग्री

  • हाफ चम्मच हल्दी
  • एक गिलास दूध
  • एक चम्मच शहद

इस्तमाल करने का तरीका

सबसे पहले हम ने दूध को तेज़ गर्म कर लेना है और उसमे आधा चम्मच हल्दी और शहद मिला देना है और अब हल्दी वाला दूध तैयार है अब हम ने गर्म पानी के अंदर शहद और हल्दी डाल के अच्छी तरह मिला देना है ताकि यह अच्छे से मिल जाये। अब आपका दूध तैयार है और अब बात करते है की हमने इसका सेवन कैसे करना है। हम किसी भी समय इसको उपयोग कर सकते है लेकिन सुबह खाली पेट पीने से आपको चौकाने वाले फायदे देखने को मिल सकते है इसलिए हो सके तो सुबह खाली पेट ही इसका सेवन करे ताकि आपको ज्यादा लाभ हो। नहीं तो आप पूरा दिन इसका सेवन कर सकते है। इससे side effect नहीं होगा। आपको इसके फायदे होंगे तो इसलिए इसका उपयोग जरूर करे।

हल्दी के पानी पीने से यह बीमारियाँ होती है दूर

कैंसर से बचाये

हल्दी का पानी इस्तमाल करने से हम कैंसर से बचे रह सकते है और अगर आपको कैंसर है तो इसका सेवन आपको कैंसर बढ़ने से भी रोकता है और कैंसर सेल्स को भी खत्म करता है। अगर किसी व्यक्ति को कैंसर है तो और वह हल्दी वाला दूध नियमित रूप से इस्तमाल करता है तो उसके लिए बेहद कारीगर साबित होता है। यह न सिर्फ कैंसर को रोकता है बल्कि कैंसर के सेल्स जो हमारी बॉडी के अंदर होते है यह उनको भी होने से खत्म कर देता है और कुछ reasearch की माने तो हल्दी वाला पानी हल्दी वाले दूध से ज्यादा असरदार होता है। तो कैंसर के रोगी को इसका सेवन जरूर करना चाहिए। इसके सेवन से आपका कैंसर खत्म भी हो सकता है। इसमें कोई बहुत ज्यादा पैसे लगने वाले नहीं है यह एक सिंपल सा आसान सा तरीका है। इसका इस्तमाल जरूर करे।

गठिया से दिलाये छुटकारा

हल्दी के पानी में inflamentary property पायी जाती है जो गठिया के रोग में बहुत असरदार मानी जाती है इसमें antioxident properties भी पायी जाती है। हमारे शरीर से गठिया पैदा करने वाले कारणों को भी खत्म कर देती है और इसको इस्तमाल करने से आपको गठिया में आराम मिलता है और शरीर की सभी जोड़ो के दर्द में आराम मिलता है। तो गठिया के रोगी को इसका सेवन आवश्य करना चाहिए अगर वह अपने दर्द से छुटकारा पाना चाहता है और एक निरोग जीवन चाहता है तो उसे हल्दी के पानी का सेवन जरूर करना चाहिए।

डायबिटीज माने मधुमेय रोग से छुटकारा

डायबिटीज माने मधुमेय जिसे हम आम भाषा में शुगर भी कहते है। यह बहुत घातक बीमारी है। इसमें रोगी में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है। इसमें ब्लड शुगर के अंदर diabetes बढ़ जाती है और इसके रोगी को इसको कंट्रोल में करने के लिए या तो इन्सुलीन के इन्जेक्शन लगाने पड़ते है या दवाईयों लेनी पड़ती है। लेकिन हल्दी के पानी में शहद न डाले बस पानी और हल्दी डाले ऐसे करने से यानि मधुमय के रोगी को बहुत फायदा होता है। इसका सेवन शुगर को कंट्रोल में रखता है और कुछ केस में देखा गया है की इसका सेवन करने से डायबिटीज खत्म होती है इसलिए डायबिटीज के रोगी को हल्दी वाला पानी जरूर पीना चाहिए। अगर आप या आपके घर में डायबिटीज का कोई भी रोगी है उसको इसका सेवन जरूर करवाए ताकि इसका फयदा पूरा हो।

शरीर की सूजन को दूर करे

शरीर में चाहे कितनी भी सूजन क्यों न हो हल्दी वाला पानी पीने से सूजन काम हो जाती है। इसके अलावा करक्यूमिन के कारण यह जोड़ो के दर्द और सूजन को दूर करने में दवाई से ज्यादा अच्छी तरह काम करता है। यह दवाई से भी अच्छी चीज़ है जोड़ो के दर्द के लिए इसलिए शरीर की सूजन के लिए या जोड़ो के लिए इसका उपयोग करे। इसका कोई side effect भी नहीं है और इसके फायदे ही फायदे है।

पाचन सकती दुरुस्त करे

कई रीसर्च में यह साबित हुआ है की निरंतर रूप से हल्दी के पानी का सेवन करने से पित ज्यादा बनता है। जिससे आपका खाना आसानी से हजम हो जाता है और आहार के अच्छे से हज़म होने से पेट सम्बंधित सभी बीमारी सही हो जाती है और पाचन सकती बढ़ जाती है क्योकि जिस वयक्ति का पाचन सकती खारब होगा वो रोगो की जाल में फसता चला जयेगा क्योकि अगर आपका पेट साफ़ नहीं है तो आप हज़ारो बीमारी की चपेट में फस चुके है या फिर फसने वाले है। तो इसलिए हमको अपनी पाचन सकती बरक़रार रखनी है और दुरुस्त रखना है ताकि हमें भविष्य में कोई बीमारी न लगे। तो आज से ही हल्दी के पानी का सेवन निरंतर करना शुरू कर दे अगर आप चाहते है एक मजबूत पाचन तंत्र।

दिल को स्वस्त रखे

हल्दी वाला पानी दिल के लिए बहुत अच्छा होता है। इस पानी से खून नहीं जमता और जब हमारी नसों के अंदर खून जमता है तो हार्ट अटैक की परेशानी होती है। हल्दी वाले पानी पीने से खून नहीं जमता और साथ ही यह खून साफ़ करने में भी मदद होती मिलती है और जो हमारा खून जमा हुआ है और हमारी दिल के नसों के अंदर जो खून जम गया है हल्दी वाला पानी पीने से आपका वह खून बहार निकल जाता है और सफाई हो जाती है और आपकी नसे अच्छे से काम करने लग जाती है। इसके अलावा खून की धमनियों में जमाव भी हट जाता है। हल्दी वाला पानी दिल को दुरुस्त रखने में बेहद फायदेमंद साबित होता है इसलिए दिल के मरीज़ो को हल्दी के पानी का सेवन जरूर करना चाहिए।

लिवर की रक्षा करे

हल्दी का पानी अधिक शराब पीने से या किसी बीमारी के कारण हुए ख़राब लिवर को ठीक करता है और आपके लिवर की सफाई भी करता है जिससे आपका लिवर और सुरक्षित रहता है। तो अगर आपको लिवर से सम्बन्धित कोई भी समस्या है तो हल्दी वाला पानी जरूर इस्तमाल करे। इसके कुछ ही दिनों के निरंतर इस्तमाल से आपको बहुत अच्छे रिजल्ट देखने को मिलेंगे

वजन कम करे

अगर आप अपने मोटापे के कारण दुखी है और तरह- तरह की दवाईयों और तरह- तरह की एक्सरसाइज के बाद भी आपका वजन कम नहीं हो रहा तो हल्दी का पानी आपकी मनोकामना पूरी कर सकता है। तो आपको गर्म पानी में शहद और हल्दी के साथ एक निम्बू का रस भी डालना होगा और उसका सेवन करना होगा। अगर कोई मोटा वयक्ति इसका सेवन सुबह खाली पेट निरंतर करता है और अपनी डाइट पर कण्ट्रोल रखता है थोड़ी बहुत एक्सरसाइज करता है तो उसको चौकाने वाले फायदे देखने को मिल सकते है। अगर आप भी मोटे है और आप भी चाहते है स्वस्थ शरीर तो आज से ही हल्दी के पानी का सेवन करना शुरू कर दे क्योकि यह आपको चमत्कारी फायदे दे सकता है यह आपकी चर्बी को गला कर निकाल देता है यह मोटापे से छुटकारा दिलाने के लिए बेस्ट है तो इसका इस्तमाल जरूर करे।

हिंदी में और पढ़े –

Haldi ke fayde kya hai?

हज़ारो साल पहले जब डॉक्टरऔर दवाईया मौजूद नहीं थी तब लोग बीमार होना शुरू हो गए थे । तब उस समय हल्दी को सिर्फ दवाई के रूप में इस्तमाल में लाया जाता था और हल्दी इतनी बड़ी anticeptic और antibacterial दवाई थी जिसका तोड़ नहीं था। तब लोगो ने इसको इतना बेहतर पाया की वह अपने को बीमारी से बचाने के लिए हल्दी का उपयोग हर रोज करने लगे और उनको उससे इतना फयदा हुआ की तब से ले कर आज तक हज़ारो साल हो गए और हर घर में हल्दी का उपयोग होता चला आ रहा

हल्दी वाले दूध का फायदा ?

चोट लगने पर हल्दी वाला दूध दिया जाता है क्योकि जैसे हम जानते है हल्दी वाला दूध anticeptic होने के कारण घाव को बढ़ने नहीं देता और उसे जल्दी से जल्दी भरने में मदद करती है इसलिए हमें हल्दी वाला दूध दिया जाता है। कुछ लोग इस दूध में घी डाल कर भी पीते है क्योकि घी में बहुत जायदा ताकत भी होती है। घी हमारे शरीर को ताकत भी प्रदान करता है। हल्दी वाला पानी दूध से ज्यादा फयदामंद होता है।


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *